Advertisement
Trending News

सलमान खान केस: गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई सहित 9 आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दायर

Advertisement


बॉलीवुड अभिनेता सलमान खान के बांद्रा स्थित घर पर अप्रैल में हुई फायरिंग के मामले में मुंबई पुलिस ने नौ आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दायर कर दी है. इनमें छह गिरफ्तार आरोपियों और जेल में बंद गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई सहित तीन वांछित लोगों के नाम शामिल हैं. 1735 पन्नों का चार्जशीट क्राइम ब्रांच ने स्पेशल एमसीओसी कोर्ट में दाखिल किया है.

क्राइम ब्रांच के एक अधिकारी ने बताया कि इस चार्जशीट में तीन खंडों में शामिल विभिन्न जांच दस्तावेज शामिल हैं. सबूतों में 46 गवाहों के बयान और मजिस्ट्रेट के समक्ष सीआरपीसी की धारा 164 के तहत दर्ज गवाहों के बयान शामिल हैं. एमसीओसी अधिनियम के तहत इकबालिया बयान, कुल 22 पंचनामा और तकनीकी साक्ष्य भी दस्तावेजों का हिस्सा है.

14 अप्रैल की सुबह बांद्रा में सलमान खान के गैलेक्सी अपार्टमेंट के बाहर मोटरसाइकिल सवार दो लोगों ने पांच राउंड फायरिंग की थी. इसके बाद सलमान के सिक्योरिटी गार्ड के बयान के आधार पर मुंबई पुलिस ने आईपीसी की धारा 307 (जान से मारने की कोशिश) और आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज किया था. लेकिन बाद में एफआईआर में तीन नई धाराएं जोड़ी गई थी.

इनमें आईपीसी की धारा 506(2) (धमकी देना), 115 (उकसाना) और 201 (सबूत नष्ट करना) शामिल है. इसके बाद पुलिस ने इस केस में मकोका एक्ट भी लगा दिया, जिससे केस मजबूत हो गया. महाराष्ट्र सरकार ने साल 1999 में मकोका एक्ट बनाया था. इसे महाराष्ट्र कंट्रोल ऑफ ऑर्गेनाइज्ड क्राइम एक्ट कहा जाता है. इसका उद्देश्य संगठित और अंडरवर्ल्ड अपराध को खत्म करना है. 

इस फायरिंग के बाद गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई के छोटे भाई अनमोल और दोस्त गोल्डी बराड़ ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट के जरिए हमले की जिम्मेदारी ली थी. इसके बाद पुलिस गुजरात से दोनों शूटरों विक्की गुप्ता (24) और सागर पाल (21) को गिरफ्तार कर लिया था. इनको हथियार सप्लाई करने वाले सोनू कुमार, सुभाष चंदर बिश्नोई और अनुज थापन को पंजाब से गिरफ्तार किया गया था. 

इन आरोपियों ने ही 15 मार्च को विक्की गुप्ता और सागर पाल को दो देशी पिस्तौल और कारतूस मुहैया कराई थी. सोनू बिश्नोई और अनुज थापन पंजाब में लॉरेंस के गांव के पास फाजिल्का के रहने वाले हैं. लॉरेंस बिश्नोई पर 50 से ज्यादा आपराधिक मामले हैं. इनमें कत्ल से लेकर, कत्ल की कोशिश, रंगदारी, फिरौती, लूटपाट और दूसरे जुर्म के मामले शामिल हैं. साल 2014 में लॉरेंस को पहली बार जेल गया था. 

उसे राजस्थान पुलिस ने एक एनकाउंटर के बाद गिरफ्तार किया था. इसके बाद वो भरतपुर जेल में रहा. फिर पेशी के दौरान मोहाली से फरार हो गया. साल 2021 में मकोका के तहत दर्ज एक मामले में लॉरेंस को तिहाड़ जेल में ट्रांसफर दिया गया था. इससे पहले वो पंजाब की बठिंडा जेल में बंद था. साल 2022 में ही पंजाब पुलिस ने उसे सिद्धू मूसेवाला मर्डर केस में गिरफ्तार किया था. इसके बाद वो फिर से बठिंडा जेल पहुंच गया. 

उसे सुरक्षा के लिहाज़ से साल 2023 में पहले दिल्ली में तिहाड़ जेल की शाखा मंडोली में लाया गया. फिर साल 2023 में उसे गुजरात एटीएस ने एक ड्रग्स केस के सिलसिले में गिरफ्तार किया और अपने साथ तिहाड़ से गुजरात ले गई, जिसके बाद से वो साबरमती जेल में ही बंद है. अब मुंबई में सलमान के घर हुई फायरिंग में लॉरेंस का नाम आया है. ऐसे में अब एक बार फिर लॉरेंस की जेल बदलने की आशंका पैदा हो गई है. 

Advertisement

Syed Sajjad Husain

मैं Syed Sajjad Husain अकोला शहर से इस न्यूज़ वेबसाइट का फाउंडर हूँ. मैं पिछले 5 सालों से पत्रकारिता क्षेत्र में कार्यरत हूँ. मैं इस न्यूज़ वेबसाइट पोर्टल पर Akola News, Latest News, Breaking News, Crime News जगत से जुड़ी खबरें तथा हर प्रकार की खबर निष्पक्षता के साथ आप तक इसे पहुँचाने में सक्षम हूँ.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button